Intermittent Fasting

आज के जमाने मे सेहत का ख्याल रख पाना मुश्किल होता जा रहा है! ऐसे में Intermittent Fasting एक बेहतरीन विकल्प के रूप में उभरा है! बढ़ता वजन हो या ब्लड प्रेशर का असंतुलित होने जैसी समस्या, Intermittent Fasting के जरिये इन समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है! ये फास्टिंग (उपवास) क्या है और इस फास्टिंग के क्या लाभ है, इस आर्टिकल में जानेंगे!

Intermittent Fasting क्या है?

यह एक ऐसा Time Plan है जिसमे 16 hours का उपवास रखना होता है! अर्थात 16 घंटे तक भूखा रहना होता है ! उपवास काल के दौरान चाय, कॉफ़ी, दूध, फलों का जूस पीना भी मना होता है! इस समय सिर्फ पानी पिया जा सकता है! तथा शेष 8 घंटे कुछ भी खाया पिया जा सकता है!

यदि आप रात में 8 बजे भोजन करते है, तो अगला भोजन 16 घंटे बाद यानि दोपहर 12 बजे करना होगा ! यह समय सारणी बदली भी जा सकती है! जैसे यदि कोई व्यक्ति रात 10 बजे भोजन करता है तो वह अगला भोजन अगले दिन दोपहर में 2 बजे करेगा !

Fasting Concept (सिद्धांत)

उपवास तो प्राचीन काल से ही भारतीय समाज का हिस्सा रहा है ! वैदिक काल से लेकर आजतक व्रत-उपवास रखे जाते है! उपवास (Fasting) का अर्थ – अपने दैनिक जीवन की जरुरी आदत का त्याग करना है ! इससे मन की इच्छाशक्ति मजबूत होती है ! इसके साथ-साथ शारीरिक लाभ भी मिलता है! उपवास, तिथि के अनुसार हो, साप्ताहिक हो या फिर Intermittent Fasting, सभी का मूल सिद्धांत शरीर की अंदरूनी सफाई और Healing करना ही होता है!

व्रत-उपवास में भी दिन में एक बार भोजन किया जाता है! ताकि शरीर के अंदरूनी अंगों जैसे लिवर, अमाशय आदि को आराम मिल सके! इन व्रतों में किया जाने वाला भोजन भी हल्का और जल्दी पचने वाला होता है जैसे फल !

Concept of Intermittent Fasting (सिद्धांत)

हमारे शरीर को चलाने के लिए ऊर्जा की आवश्यकता होती है! ये ऊर्जा हमे भोजन से मिलती है! हमारा लिवर भोजन को पचाने का कार्य करता है, लेकिन लगातार खाते रहने से लिवर को आराम नही मिल पाता ! धीरे-धीरे लिवर की कार्यक्षमता कम हो जाती है, जिससे भोजन पचता नही है ! जिससे खाना अंदर सड़ता रहता है या बिना पचे ही बाहर निकल जाता है!

हम भोजन के रूप में कार्बोहाइड्रेट लेते है! यह कार्बोहाइड्रेट, पेट के अंदर Glucose में बदल जाता है! यही Glucose, लिवर में जाकर ऊर्जा, Glycogen तथा Fats के रूप में टूटता है!

वहीं उपवास समय में जब हम खाते नही है तब लिवर, Glycogen को फिर से Glucose में बदल देता है! इसके अलावा अधिक समय तक ना खाने पर जमा fat भी fatty acid में बदल जाता है, जो अंत मे Glucose में बदल कर शरीर को ऊर्जा देता है!

लाभ

  • इससे वजन बहुत आसानी से और जल्दी घटता है! जिन लोगों में fat जमा रहता है वे बिना किसी परेशानी के अपना वजन घटा सकते है!
  • शारीरिक मेहनत न कर पाने वाले लोगों के लिए भी फायदेमंद है!
  • High Blood Pressure, High Cholestrol, Acidity, कब्जियत जैसी समस्याओं में भी बहुत प्रभावी है!
  • अंदरूनी अंगों को आराम मिलता है, जिससे वे ज्यादा क्षमता से काम करते है!
  • लगातार खाते रहने वालें लोगो की आदत में भी सुधार होता है!
  • रात में snakes चाय कॉफ़ी लेने वालों की आदत में सुधार होता है!
  • यह बिल्कुल मुफ्त का Diet Plan है, इसमे एक रुपये का भी खर्च नही होता!
  • इसे किसी जिम या विशेष जगह की भी जरूरत नही होती, इसे साधारण जीवनचर्या का हिस्सा भी बना सकते है!
  • इस फास्टिंग का अधिकांश समय, रात में सोते हुए ही निकल जाता है!
  • Fasting करने से इच्छाशक्ति मजबूत होती है!
  • इसे लगभग हर आयु वर्ग और स्तर के स्त्री-पुरुष अपना सकते है!

सावधानियां

  • छोटे बच्चों तथा गर्भवती महिलाओं को इसे नही अपनाना चाहिए!
  • वे लोग जो अत्यधिक शारीरिक श्रम करते है, यह Fasting उनके लिए नही है!
  • किसी जटिल बीमारी से ग्रसित लोगो को भी यह Fasting नही करनी चाहिए!
  • भोजन करने की समयावधि में भोजन, सात्विक और पौषक तत्वों से युक्त लेना चाहिए!
  • उपवास के समय पानी ज्यादा पीना चाहिए, ताकि शरीर मे पानी की कमी ना हो!
  • शुरुआत में 16 घंटे उपवास ना हो तो 12 घंटे से शुरू कर धीरे धीरे बढ़ाना चाहिए!

मैं प्रमीत शर्मा हूं। मुझे आपकी सभी पसंदीदा हस्तियों के बारे में लेख लिखना अच्छा लगता है! कृपया मुझसे संपर्क करें यदि आप कुछ सुझाव देना चाहते हैं या सिर्फ नमस्ते कहना चाहते हैं!

Leave a Comment